• मुख्य सामग्री पर जाएं /
  • स्क्रीन रीडर का उपयोग

प्रेस विज्ञप्ति

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ने राष्ट्रपति से भेंट की

राष्ट्रपति भवन : 03.10.2018

संयुक्‍त राष्‍ट्र के महासचिव, श्रीएंतोनियो गुतेरस ने आज (अक्टूबर2018) राष्ट्रपति भवन में भारत के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्‍द से भेंट की।

श्री गुतेरस का संयुक्त राष्ट्र के महासचिव के रूप में भारत की प्रथम यात्रा पर आए,श्री गुतेरस का स्वागत करते हुए, राष्ट्रपति ने कहा कि भारतमहात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय स्वच्छता सम्मेलनतथा स्वच्छ भारत अभियानकी चौथी वर्षगांठ में उनकी भागीदारी को सम्‍मान की दृष्टि से देखता है। राष्ट्रपति ने महात्मा गांधी की विरासत के प्रचार-प्रसार के प्रति उनके सहयोग के लिए उनका धन्यवाद किया।

राष्ट्रपति ने कहा कि विगत कुछ वर्षों में भारत में डिजिटल प्रौद्योगिकी और समावेशी विकास नीतियों की सहायता से परिवर्तनकारी बदलाव चाहे वे बदलाव महिला सशक्तिकरण से संबंधित हों या फिर हो या फिर स्वच्छता; वित्तीय समावेशन से संबंधित हों; 250 मिलियन से ज्‍यादा लोगों को खाना पकाने का स्वच्छ ईंधन उपलब्‍ध करवाने;500 मिलियन से ज्यादा लोगों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाना या फिर देश के करोड़ों लोगों तक बिजली पहुंचाने से संबंधित हों हमसतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के प्रति पूरी तरह वचनबद्ध रहेंगे और हमारी वचनबद्धता हैं हमारे देश तक ही सीमित नहीं हैं। हमारे विकास सहयोग कार्यक्रमों से इन लक्ष्यों को पूरा करने में अन्य लोगों को भी सहायता मिल रही है।

राष्ट्रपति ने कहा कि भारत का मानना है कि वैश्‍वीकृत दुनिया में बहुपक्षीयतावाद अपरिहार्य है। भारत इसके प्रति वचनबद्ध है। फिर भी,हमारी समझ में बहुपक्षीयतावाद और वैश्विक प्रशासन अपने वर्तमान रूप में प्रभावी तौर पर काम नहीं कर रहा है। संयुक्‍त राष्ट्र को चाहिए कि वह,बदलते हुए समय के अनुसार स्वयं को ढाले। इसे सभी देशों की आवश्यकताओं के प्रति और अधिक प्रतिसंवेदी होना चाहिए।

राष्ट्रपति ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र में कोई भी सुधार संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में सुधार के बिना पूरा नहीं हो सकता। सुरक्षा परिषद् की वर्तमान स्थायी सदस्यता समसामयिक वैश्विक वास्तविकताओं को प्रतिबिंबित नहीं करती है। उन्होंने जोर देकर कहा कि सुरक्षा परिषद् की सदस्यता और कार्य पद्धतियों को अद्यतन करने की आवश्यकता है ताकि ये 21वीं सदी की चुनौतियों का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार हो सकें।

यह 1650 बजे जारी की गई।

Go to Navigation